भारत में आने वाला है महाभूकंप ? | Earhquake In India? तबाही का केंद्र हिमालय होगा ?

इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि भारत में कहाँ-कहाँ महाभूकंप का प्रलय आ सकता है ? हिमालय में महाभूकंप की हलचल है और इसका असर तमाम शहरों में होना तय है | भूकंप कब आएगी इसकी भविष्यवाणी तो कोई नहीं कर सकता लेकिन किस इलाके में आएगा इसको लेकर अलग-अलग बात जरूर सामने आई है कौन कौन से इलाके में भूकंप की लिस्ट में है।

नेपाल से ज्यादा भयंकर भूकंप , तुर्की वाली तबाही इसके आगे फेल होगी। ऐसी तबाही जो दुनिया ने नहीं देखी होगी।क्या सबसे बड़े भूकंप से दहलेगा भारत ? बार-बार ऐसे भूकंप की भविष्यवाणी की जा रही है जो उत्तर भारत के शहरों को हिला कर रख देगा 700 किलोमीटर का वह कौन सा इलाका है जहां सबसे बड़ी तबाही होगी यह वह सवाल है जिसका जवाब हर कोई जानना चाहता है |

इस सवाल का जवाब जानने से पहले इस खौफनाक भविष्यवाणी की कुछ और पहलुओं पर गौर करते हैं। यह तो तय है तबाही का केंद्र हिमालय होगा लेकिन इसका असर दूर तक होगा।

जब सबसे बड़ा भूकंप आएगा तो क्या ताश के पत्तों की तरह बिखर जाएगी दिल्ली की इमारतें ? क्या साइबर सिटी गुड़गांव में आएगी की सबसे बड़ी आफत? क्या भूकंप से शिमला और चंडीगढ़ हो जायेंगे बर्बाद ?

ये भी पढ़ें : Gautam Adani के लिए आई सबसे बड़ी खुशखबरी , श्रीलंका में चल गया Adani का सिक्का!

खौफनाक सवालों की वजह हिमालय में हो रही हलचल है | हिमालय में महाप्रलय की आहत बहुत तेज होती जा रही है | ऐसी भविष्यवाणी जिनसे इन पहाड़ियों में बार-बार तबाही का सबसे खौफनाक अलार्म बज रहा है | 

कयामत तय ! हिमालय में सबसे बड़े भूकंप का भय ! क्या हिमालय का दो-तिहाई हिस्सा खंड-खंड हो जाएगा ? क्या प्रलय की वो घड़ी आ गई है जिसकी चेतावनी पिछले 30 सालों से दी जा रही है | रिक्टर पैमाने पर 8 से ज्यादा तीव्रता की भूकंप वाली चेतावनी दी जा रही है |

2005 में नेपाल में वैज्ञानिकों ने बड़े भूकंप की भविष्यवाणी की है। यह भूकंप आया 2015 में यानी अनुमान के 10 साल बाद |

 भारत के हिमालय क्षेत्र को लेकर कुछ इसी तरह का आंकलन किया जा रहा है | कहां आएगा भूकंप आएगा ? कितना होगा इसका असर ?

यह तो साफ हो चुका है भयंकर भूकंप तय  है। बात वक्त और इलाके की , वक्त के बारे में कहना तो मुश्किल है लेकिन इलाकों के बारे में जरूर स्टडी सामने आ रही है।

एक स्टडी के मुताबिक तीन इलाकों में सबसे ज्यादा तबाही आ सकती है इसमें एक इलाका हिमाचल में कांगड़ा और उत्तर-बिहार के बीच का है | दूसरा इलाका शिलांग के पठान और अरुणाचल के बीच में पहाड़ियों का है। तीसरा हिस्सा कश्मीर का बताया जा रहा है।

हिमालय की पहाड़ियों की गिनती दुनिया की सबसे युवा और ऊंची पहाड़ियों में होती है। यह तो तय है कि यहां आने वाले भूकंप की गूंज एशिया के कई मुल्कों में सुनाई देगी।

ये भी पढ़ें : कम समय में EXAM की तैयारी कैसे करें | Exam Preparation Tips in hindi

भूकंप के बड़े खतरों को लेकर कुछ बारीकी स्टडी की गई है। एक रिपोर्ट के मुताबिक पूर्वी-हिमाचल और उत्तराखंड के बीच सबसे बड़ी तबाही आ सकती है।

जानकारों के मुताबिक उत्तराखंड के गढ़वाल-कुमाऊं में 700 किलोमीटर का इलाका सबसे ज्यादा संवेदनशील है। पूरे हिमालय क्षेत्र में तबाही तेजी से दस्तक दे रही है।

दोस्तों आपको कैसा लगा हमारा पोस्ट , कमेंट करके जरूर बताये और अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें |

Thank You!

Leave a Comment